अमानवीयता की सारी हदें पार कर महिला अस्पताल से प्रसूता पुरूष इमरजेंसी की गयी रेफर डॉक्टरों ने महिला का पुरुष अस्पताल में ही कराया गया प्रसव


इलाज के अभाव जन्म लेते ही मासूम ने तोड़ा दम परिवार में कोहराम

सुभाष चन्द्र यादव

बहराइच। प्रदेश की योगी सरकार ने फरमान जारी किया कि प्रदेश की जनता को बेहतर से बेहतर मुफ्त इलाज सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध कराया जाये। फरमान सूबे के मुखिया का था तो प्रदेश के हुक्मरां भी जुट गये बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के निर्देशों को कागजों पर पूरा करने में। प्रदेश में शायद ही कोई ऐसा जिला तहसील कस्बा या गांव होगा जिसने ये रिपोर्ट किया हो कि सरकारी चिकित्सालयों में मुफ्त इलाज तो दूर बेहतर इलाज उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। फाइलों में दौड़ने लगे बेहतर इलाज के दावे लेकिन कहते हैं न कि कोई भी झूठ आखिर कब तक कोई छिपा कर रख सकता है। कुछ ऐसा ही हाल जिला अस्पताल का हुआ बेहतर स्वाथ्य सेवाएं उपलब्ध कराने का दावा करने वाले जिला अस्पताल में लगातार हो रहे एक के बाद एक कारनामों ने सरकारी जिला चिकित्सालय के बेहतर इलाज के दावों की न सिर्फ हवा निकाल दी है बल्कि जिला अस्पताल की अव्यवस्थाओं और अमानवीय कृत्यों की परतें भी खोल कर रख दी हैं। एक ओर जहां मातृत्व योजना को हवा दे शिशु मृत्यु दर में कमी लाने और प्रसूताओं को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिये नई-नई योजनाएँ चला कर सराकरें लाखों करोड़ों खर्च कर रही हैं वहीं दूसरी ओर बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए सराकरी अस्पताल में तैनात सरकारी चिकित्सकों की उदासीनता के चलते प्रसूताएं और नवजातों के काल के गाल में समाने के मामले कम होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। जिला अस्पताल का एक ऐसा घिनौना कारनामा उजागर हुआ है जिसने पूरी इंसानियत को ही शर्मसार कर दिया है। मामला एक प्रसूता को महिला अस्पताल से पुरुष वार्ड के इमरजेंसी वार्ड में रेफर करने और फिर प्रसूता के पुरुष वार्ड में नवजात को जन्म देने का है जिसमे अस्पताल की लापरवाही की भेंट नवजात चढ़ गया।   

               जनपद को मेडिकल कॉलेज की सौगात मिली तो जनपदवासियों को लगा था कि अब उन्हें बेहतर उपचार व्यवस्था मिल सकेगी वहीं जिला अस्पताल का नाम स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय एवं सम्बद्ध चिकित्सालय बहराइच में बदल गया और जिला महिला अस्पताल को सात तलीय नई बिल्डिंग मिलने के बाद से आमजन की इस बेहतर इलाज की उम्मीदों को और भी पंख से लग गये। लेकिन आमजन की उम्मीदें लगातार खस्ताहाल अस्पताल व्यवस्था बदहाल  चिकित्सीय सेवाओं के कारण अब टूटने सी लगी है। वहीं नाम बदलने और नई बिल्डिंग के मिलने के बाद भी जिला अस्पताल में तैनात धरती के भगवान कहे जाने वाले सरकारी चिकित्सक अब भी अपने उसी पुराने ढर्रे पर कायम हैं। ऐसा लगता है कि उनके लिये इंसानी जान और उनकी मान मर्यादाओं का कोई मोल ही नहीं है। ताज़ा मामला जनपद बहराइच का है जहां प्रसव पीड़ा होने पर परिजनों ने पयागपुर निवासिनी पम्मी देवी पत्नी अखिलेश को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। लेकिन महिला विंग से मान-मर्यादाओं को तार-तार करते हुए प्रसूता को पुरुष अस्पताल की इमरजेंसी में किया रेफेर कर दिया गया। इसी दौरान प्रसव पीड़ा अधिक होने पर परिजनों ने इमरजेंसी वार्ड में तैनात डॉक्टर को बुलाया। इमरजेंसी वार्ड में तैनात डॉक्टर ने महिला डॉक्टरों को बुलवाया लेकिन महिला।चिकित्सक मौके पर नहीं पहुंची जिसके बाद प्रसूता ने पुरुष अस्पताल की इमरजेंसी में बच्चे को जन्म दिया। लेकिन समय से सही उपचार न मिल पाने के कारण जन्म के तुरंत बाद नवजात की मौत हो गयी। नवजात की मौत से परिवार में कोहराम सा मच गया। मामले ने टूल पकड़ा तो अस्पताल के आलाधिकारी भी मौके पर पहुंच गये और अब पूरे मामले में लीपापोती में जुट गये हैं। सवाल यह उठता है कि क्या यही है योगी सरकार की मुफ्त और बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं जिसमें जन्म लेते ही अस्पताल के भीतर ही नवजात दम तोड़ देते हैं। अब देखना यह ही कि प्रकरण प्रकाश में आने के बाद अस्पताल प्रशासन क्या कोई ठोंस कदम उठाने की जहमत उठाएगा या फिर अब भी वह अपनी निद्रावस्था में लीन रहेगा।

Buy Latest Cisco 210-065 Study Guide Book On Sale

In addition, there is a deposit of 1,000 yuan. A Xiang saw 210-065 Study Guide Book that he was not so thin, CCNA Collaboration 210-065 and http://www.passexamcert.com he cried in distressed. This is the first time I have stepped into such a magnificent place in my life, I Implementing Cisco Video Network Devices (CIVND) can t help but look at myself. In the late spring and early summer, the streets of Beijing have long been Cisco 210-065 Study Guide Book covered with greenery. Axiang knows that she is Cisco 210-065 Study Guide Book trying to keep her last self esteem in front of him and has been crushed.

However, they are indeed much more free than we are.The military tradition is not the same as it is. In fact, it is not the case that the non compliance 210-065 Study Guide Book with the rules of war means that the Implementing Cisco Video Network Devices (CIVND) soldiers personally own life Rehearsal did not turn over time, how to turn it over After all, they still do not listen to the cadres and squad leaders, but they will die if they do not have the army, but I will not die like this. At this moment my brain started to turn.Gun stolen or not stolen Many years later, as long as my brethren had the chance to get together and drink, I was absent, and I was defeated by an automatic revolver fitted with 30 rounds of empty bombs to steal a regiment of a brother Cisco 210-065 Study Guide Book regiment The mountains and running birds and birds will be again out of the wine. Motor CCNA Collaboration 210-065 Study Guide Book monitor Then you Cisco 210-065 Study Guide Book come to do What s wrong with your son I was staring at the high school squadron very bird very slow very slow very slowly, said I came to exit today. So there is a joke inside the UN peacekeeping force why two observers of the same nationality can not whistle at the same time Because if the CCNA Collaboration 210-065 two Finnish observers brother together, they will begin to repair the sauna on the post.

Three DVD Cisco 210-065 Study Guide Book 210-065 Study Guide Book players Cisco 210-065 Study Guide Book Three DVD discs, she said. William In other words, there is money. what happened testking to Cisco 210-065 Study Guide Book you Hurry up She urged. Chat. A week later, the middle aged man gave him 35,000 yuan, Implementing Cisco Video Network Devices (CIVND) called a taxi, sent two Cisco 210-065 Study Guide Book CCNA Collaboration 210-065 men, and sent him back to the shelter in the bomb shelter. She wears a big golden ear. ring.

Please follow and like us:
20

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enjoy this blog? Please spread the word :)